आप ड्राइविंग सीखना चाहते हैं या आपने कुछ दिन पहले गाड़ी चलाना शुरू किया है तो एक अच्छा एवं उत्तम ड्राइवर बनने के लिए बहुत सारी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है। अगर आप इन टिप्स को फॉलो करेंगे तो कार चलाना मुश्किल काम नहीं है।

ड्राइव करने से पहले वाहन की पूरी तरह से जानकारी प्राप्त करें

आपको गाड़ी चलाने से पहले अपने वाहन के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त करनी चाहिए जैसे: गियर, एडजस्टमेंट, क्लच और ब्रेक आदि। अगर अचानक कभी भी कार तेज़ रफ्तार में हो तो उस समय लोअर गियर या रिवर्स गियर का उपयोग नहीं करना चाहिए तथा आप अपनी कार को रिवर्स करने के लिए पहले वाहन को रोककर ही रिवर्स गियर का इस्तेमाल करें।

आप अपनी सीटिंग पोजिशन पर ध्यान दें

कार ड्राइविंग करते समय सबसे पहले सीटिंग पोजिशन को ठीक ढंग से रखें जैसे: पीठ, कंधा, घुटनों पर अधिक भार नहीं पड़ना चाहिए और आपका पैर ब्रेक और क्लच में पूरी तरह से पहुंचे, ताकि आपको किसी प्रकार की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े। इसके अलावा स्टीयरिंग पोजिशन का भी ख्याल रखें, जिससे आप ड्राइव अच्छे से कर पाएंगे ।

Pic: driving-tests

ध्यान को एकाग्र रखें

ड्राइव करते समय आपको हमेशा एकाग्रता की जरूरत होती है। सबसे पहले आप कार का रियर-व्यू मिरर ठीक करें, सीट बेल्ट लगाएं। अपने ध्यान को इधर-उधर भटकने न दें। ट्रैफिक जाम की समस्या होने पर वाहन को बेहद सावधानी से चलाएं। वाहन चलाते समय मोबाइल फोन, शराब पीकर गाड़ी चलाना बेहद खतरनाक साबित हो सकता है, इसलिए ऐसा बिलकुल मत करें। जब आप नए चालक होते हैं तो भूलकर भी इन चीजों को अनदेखा न करें।

इसके अलावा ड्राइवर को गाड़ी चलाते समय खाना, पीना, अधिक बातें करना और तेज़ साउंड में गाना सुनना नहीं चाहिए। इन सभी बातों को ध्यान में रखने से आप दुर्घटना से बच सकते हैं।

Pic: digitaltrends

टर्न-इंडिकेटर

एक्सीडेंट से बचने के लिए हमेशा रुकने या मुड़ने के दौरान आगे और पीछे से आ रहे वाहनों को टर्न-इंडिकेटर के सहारे से संकेत करना आवश्यक होता है। ध्यान रहे, टर्न इंडिकेटर का हमेशा प्रयोग करें ।

वाहन तेज़ चलाने से बचें

अक्सर देखा जाता है कि कई लोग अधिक तेज ड्राइविंग करते हैं। खासकर नए ड्राइवर को गाड़ी स्पीड में नहीं चलाना चाहिए। जब तक नए ड्राइवर को अपने ऊपर आत्मविश्वास न हो, तब तक गाड़ी तेज रफ़्तार में नहीं चलाएं क्योंकि तेज स्पीड दुर्घटना व एक्सिडेंट का कारण बनती है, इसलिए कभी भी गाड़ी तेज़ ना चलाएं ।

उचित दूरी बनाएं

अपने आगे चल रहे वाहनों से हमेशा दूरी बनाएं क्योंकि आगे वाला वाहन एकदम रुक या मुड़ सकता है, जिससे आपको भी अचानक ब्रेक लगाना पड़ सकता है। सुरक्षा के लिए आपको दूरी बनाना अति आवश्यक है।

हॉर्न का इस्तेमाल बिना मतलब न करें

हॉर्न को बिना वजह नहीं बजाना चाहिए। हॉर्न का इस्तेमाल अपने आसपास तथा वाहन के सामने लोगों को अलर्ट करने के लिए करें न कि बार- बार लोगों को परेशान करने के लिए। अस्पतालों, स्कूलों,सरकारी दफ्तरों तथा ‘नो हॉर्न’ वाले क्षेत्र में कभी भी हॉर्न को नहीं बजाना चाहिए ।

Pic: ghsa

डिप्रेशन तथा तनाव में ड्राइव करने से बचें

आप डिप्रेशन, तनाव में वाहन नहीं चलाएं। अपने दिमाग को शांत, ठंडा रखकर ड्राइव करें क्योंकि गुस्सा, तनाव, डिप्रेशन तथा बिगड़े मूड होने से एक्सीडेंट व दुर्घटना की सम्भावना बढ़ सकती है।

उम्मीद है ये जानकारी आपके काम आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here