यदि आपके पास टू व्हीलर है या कार हमेशा इनकी अच्छी तरह से साफ-सफाई, सर्विस और रख-रखाव करना बेहद जरूरी होता है । जिस तरह कार की सर्विस टाइम-टू-टाइम कराते हैं, ठीक उसी प्रकार बाइक की सर्विस भी समय-समय पर करवाना जरूरी होता है। अगर बाइक की मेंटेनेंस पर ध्यान नहीं दिया गया तो यह कभी भी बीच सड़क पर रुक सकती है। आइए हम आपको आज इस आर्टिकल में बताएंगे कि बाइक को इस्तेमाल करने के बाद कैसे रखें उसका ख्याल-

इंजन सर्विसिंग

बाइक के हर 1500 किलोमीटर चलने पर कार्ब्युरेटर की साफ-सफाई करें। हमेशा इंजन की सर्विसिंग करवाएं। इसके अलावा कार्ब्युरेटर और वॉल्व की साफ-सफाई करना बेहद आवश्यक है। बाइक के स्पार्क प्लग का ख्याल रखना भी ज़रूरी है। साथ ही हर 1500 किलोमीटर चलने के बाद स्पार्क प्लग को भी बदल लें।

इंजन ऑयल पर ध्यान दें

बाइक का सबसे मुख्य हिस्सा है बाइक का इंजन। इसलिए इंजन का मेंटेनेंस करना बहुत आवश्यक है। इंजन अच्छे से परफॉर्मेंस करें, इसके लिए बेहतर इंजन ऑयल का प्रयोग चाहिए और इंजन ऑयल को टाइम से बदलना भी आवश्यक है।

इसके लिए हमेशा ऑयल के लेवल को चेक करते रहें कि इंजन ऑयल लीक तो नहीं कर रहा है। अगर आप खराब इंजन ऑयल का इस्तेमाल करते हैं तो आपके माइलेज पर बुरा प्रभाव पड़ता है। साथ में इंजन की लाइफ पर भी प्रभाव पड़ेगा।

Pic: youngchoppers

एयर फिल्टर की देखभाल

बाइक का एक जरुरी भाग है एयर फिल्टर। एयर फिल्टर की टाइम से सफाई करते रहें तथा समय समय एयर फिल्टर को बदलें भी, अन्यथा साफ़ हवा के अभाव में आपका इंजन जल्दी खराब हो सकता है।

बाइक का क्लच

बाइक के क्लच पर एडजस्टमेंट सही तरीके से करें तथा क्लच को अधिक टाइट नहीं रखें। साथ ही क्लच को फ्री प्ले में रखकर चलायें, ताकि बाइक चलाते समय क्लच ज्यादा दबा ना रहे और ना ही क्लच पर ज्यादा जोर पड़े। क्लच की सेटिंग सही नहीं रहने माइलेज पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है। अतः किसी प्रकार की कमी नजर आने पर इसे ठीक करवा लें।

Pic: wikihow

चेन का रख-रखाव

समय -समय पर बाइक में लगी चेन की देखभाल एवं सफाई करना भी बेहद ज़रूरी है। उस पर लगी मिटटी को सॉफ्ट ब्रश की सहायता से साफ करें। ध्यान रहे चेन को पानी से धोने से बचें क्योंकि इससे चेन पर जंग लग सकता है। चेन को ना अधिक टाइट, ना अधिक ढीला रखें, बल्कि उसे सामान्य रखें तथा टाइम अनुसार मैकेनिकल जाँच कराते रहें।

Pic: autoevolution

टायर को जांचें

हमेशा बाइक के टायर की कंडिशन को अच्छी तरह से जांचे और साथ ही बाइक के टायर का एयर प्रेशर का विशेष ध्यान रखें। जिस टायर पर ग्रिप हो, बाइक में उसी का इस्तेमाल करें तथा बाइक का व्हील बैलेंसिंग समय के साथ कराते रहें।

बैटरी का रखें ख्याल

टाइम के साथ बाइक की बैटरी की भी साफ-सफाई करते रहें। बैटरी ख़राब हो जाने पर या लीकेज होने के स्थिति में तुरंत ही बदलने की कोशिश करें।

Tag…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here