आप चाहें कितने भी ट्रेंड ड्राइवर क्यों ना हों, लेकिन नार्मल मौसम की अपेक्षा हर किसी को बरसात के मौसम में गाड़ी चलाने में दिक्कत आती है।

इस मौसम में ड्राइविंग करते समय सभी को विशेष ध्यान देना चाहिए, क्योंकि इस मौसम में जगह-जगह सड़कों पर पानी इकट्ठा होने से सड़क का अंदाजा लगाना मुश्किल होता है। इसीलिए आपकी थोड़ी सी भी लापरवाही बड़ी मुसीबतों का कारण बन सकती है। बरसात के मौसम में आपको अनेक सावधानियां बरतनी चाहिए जिससे सभी लोग सुरक्षित रहें। आज हम आपको बता रहे हैं कि बरसात के मौसम में गाड़ी चलाते समय कैसे बचें परेशानियां से…

Pic: thepatriot

जिन सड़कों में अत्यधिक पानी जमा होता है, वहां नहीं जाना चाहिए। साथ ही ऊँचे रास्ते का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए।

जब आप घर से निकलते हैं तो उससे पहले न्यूज, रेडियो तथा इंटरनेट की सहायता से मौसम का हाल पता करें। इससे आपको सड़क के ट्रैफ़िक जाम, जलभराव की सिचुएशन काफी हद तक क्लियर हो जाएगी।

ड्राइविंग करते समय आप अपने से आगे से जा रही गाड़ियों से भी अंदाजा लगा सकते हैं कि पानी सड़कों पर कितना गहरा है। इस प्रकार से अपनी गाड़ी को धीरे-धीरे पानी से बाहर निकालें।

Pic: postandcourier

सड़कों में पानी भरने की वजह से सड़क के गढ्ढे में पानी कितना गहरा है, इन सबका पता लगाना बेहद मुश्किल हो जाती है। कई बार तो आपकी गाड़ी पानी में ही बंद हो जाती है। इसलिए जब भी आप पानी भरे हुए रास्तों से जा रहे हैं, उस समय गाड़ी को बीच रस्ते में ना रोकें तथा तेज ड्राइव भी नहीं करें क्योंकि गाड़ी की गति तेज करने से पानी कार के इंजन और अन्य इलेक्ट्रिकल पार्ट्स में पहुंचकर नुकसान पहुंचा सकती है।

आपकी गाड़ी अचानक बीच पानी में बंद हो ही जाए तो आप कार को दुबारा स्टार्ट करने की कोशिश न करें और इस स्थिति में धक्का लगाकर गाड़ी को पानी से बाहर निकालें। ऐसी स्थिति में जितना स्टार्ट करने की कोशिश करेंगे, मुसीबत उतनी ही बढ़ेगी।

इसी प्रकार अगर आप ढलान पर जा रहे हैं तो तेजी से ब्रेक ना लगाएं। स्पीड भी कम रखें। इसके अलावा रुकने वाली जगह पर धीरे-धीरे गाड़ी को कम स्पीड पर रखते हुए रोकें।

बरसात के मौसम में बार-बार ब्रेक भी नहीं लगाना चाहिए, बल्कि गाड़ी की गति को कम करके ही रखना चाहिए।

Pic: wunderground

जो कार आपसे आगे जा रही है उनसे दूरी बनाए रखें, क्योंकि बारिश में कभी-कभी ब्रेक स्लिप हो जाती है, इसलिए आप ब्रेक को जोर से नहीं दबाएँ।

बरसात के मौसम में ज्यादा घिसे हुए टायरों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। चूंकि पुराने टायरों की रास्ते पर पकड़ कम होने से वाहन स्लिप होने की संभावना हो सकती है।

इसलिए आपके कार में अगर पुराने टायर लगे हैं, तो उन्हें बदल दें। मानसून के मौसम में आपको इन सभी बातों का विशेष ख्याल रखना चाहिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको इस मौसम में भी विभिन्न प्रकार की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा तथा किसी दुर्घटना के बिना ही वाहन चला सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here